ब्रेकिंग न्यूज़
बिहार

बिहार: एंबुलेंस नहीं मिली तो बीमार मां को पीठ पर लादकर 3 KM पैदल अस्पताल ले गई बेटी

वायरल वीडियो में दिख रही महिला उमरावती देवी अपनी बुजुर्ग और बीमार मां की सेवा के लिए मायके में ही रहती है (वायरल वीडियो से इमेज ग्रैब)

वायरल वीडियो में दिख रही महिला उमरावती देवी अपनी बुजुर्ग और बीमार मां की सेवा के लिए मायके में ही रहती है (वायरल वीडियो से इमेज ग्रैब)

Gopalganj News: वीडियो में उमरावती देवी को अपनी बुजुर्ग मां को पीठ पर लादकर खड़ी देखा जा सकता है. 22 सेकेंड का यह वीडियो सोशल मीडिया (Social Media) पर शेयर किया जा रहा है. जो भी यह वायरल वीडियो (Viral Video) देख रहा है वो उमरावती देवी के जज्बे की सराहना कर रहा है.

  • Share this:

गोपालगंज. बिहार के गोपालगंज (Gopalganj) में एक वीडियो सोशल मीडिया (Social Media) में खूब वायरल हो रहा है जिसमें दावा किया गया है कि बरौली पीएससी में इलाज कराने गई महिला को एंबुलेंस उपलब्ध नहीं कराया गया. एंबुलेंस (Ambulance) नहीं मिलने से महिला अपनी बीमार और बुजुर्ग मां को गोद में उठाकर करीब तीन किलोमीटर की दूरी तय करने को मजबूर हुई. मामला बरौली पीएचसी का है. बताया जाता है कि उमरावती देवी नाम की यह महिला अपनी बीमार और बुजुर्ग मां बुचिया देवी को एंबुलेंस नहीं मिलने पर अपनी पीठ पर लादकर बरौली पीएचसी आई थी.

यहां बुजुर्ग महिला का इलाज करने के बाद उन्हें ऐसे ही वापस भेज दिया गया. इस दौरान उन्हें जाने के लिए न तो एंबुलेंस उपलब्ध कराया गया और न ही कोई गाड़ी मिली. इस परिस्थिति में उमरावती देवी बहादुरी दिखाते हुए अपनी मां बुचिया देवी को अपने गांव सुरवल से लगभग तीन किलोमीटर दूर बरौली पीएचसी तक पैदल ही पीठ पर लाद कर ले गई.

वीडियो में उमरावती देवी को अपनी बुजुर्ग मां को पीठ पर लादकर खड़ी देखा जा सकता है. 22 सेकेंड का यह वीडियो सोशल मीडिया पर शेयर किया जा रहा है. जो भी यह वायरल वीडियो देख रहा है वो उमरावती देवी के जज्बे की सराहना कर रहा है. उमरावती का कोई भाई नहीं और उसके पिता साधु बिंद की मौत हो चुकी है. ऐसे में वो अपनी बुजुर्ग मां की देखभाल के लिए मायके में ही रहती है.

मामला सामने आने पर गोपालगंज के सिविल सर्जन डॉ. योगेन्द्र महतो ने कहा कि उन्हों भी यह वीडियो देखा है. इसकी जांच कराई जाएगी कि और आगे की कार्रवाई की जाएगी.यह पहली बार नहीं है जब गोपालगंज में एंबुलेंस के अभाव में मरीजों को उनके परिजनों या तीमारदार द्वारा ऐसे ही लाद कर ले जाना पड़ा हो. लेकिन इसके बावजूद स्वास्थ्य व्यवस्था या सिस्टम में अब तक कोई सुधार नहीं हो सका है.

<!–

–> <!–

–>

Source From : News18

Related posts

शाहनवाज हुसैन ने राजद को बताया जमीन लिखाकर नौकरी देने वाली पार्टी

My News Baba

सुशांत सिंह राजपूत केस: एक्टर का निजी कर्मचारी दीपेश सावंत NCB की हिरासत में

My News Baba

पटना से समस्तीपुर जा रहे RJD MLA की इनोवा में ट्रक ने मारी टक्कर, बाल-बाल बचे

My News Baba

Leave a Comment