ब्रेकिंग न्यूज़
अंतरराष्ट्रीय

गलवान संघर्ष : चीन ने माना 5 सैनिकों की हुई मौत, पहली बार इन्हें सम्मानित किया 

नई दिल्ली (आईएएनएस)। गलवान घाटी में भारतीय सेना के साथ हुए संघर्ष में पीपुल्स लिबरेशन आर्मी (पीएलए) के चार सैनिकों की मौत हो गई थी और एक के घायल होने की सूचना मिली थी। चीन ने शुक्रवार को पहली बार इन्हें सम्मानित किया है। चीनी मीडिया ने इसकी जानकारी दी है। चीनी मीडिया चाइना ग्लोबल टेलीविजन नेटवर्क (सीजीटीएन) ने दावा किया है कि पीएलए के पांच सैनिकों को मानद उपाधि और प्रथम श्रेणी के मेरिट प्रशस्ति पत्र से सम्मानित किया गया है।

इसमें कहा गया कि जून, 2020 में सीमा पर हुए एक संघर्ष के दौरान चार चीनी सैनिकों को मरणोपरांत मानद उपाधियों और प्रथम श्रेणी के योग्यता पुरस्कारों से सम्मानित किया गया, जिसकी घोषणा शुक्रवार को केंद्रीय सैन्य आयोग (सीएमसी) ने की। स्थानीय मीडिया ने कहा, राष्ट्रीय संप्रभुता और क्षेत्र की रक्षा के लिए शहीदों के बलिदान को याद करते हुए सीएमसी ने पहली बार उनके नाम और वीर गाथाओं का अनावरण किया है।

इसमें कहा गया, चेन होंगजुन को राष्ट्रीय क्षेत्र की रक्षा के लिए नायक की मानद उपाधि से सम्मानित किया गया है। चेन जियानगॉन्ग, जिओ सियुआन और वांग जुओरन को प्रथम श्रेणी के मेरिट उद्धरण से सम्मानित किया गया है। टकराव के दौरान जवानों का नेतृत्व करते हुए कर्नल क्यूई फेबाओ गंभीर रूप से घायल हो गए थे। क्यूई को नायक कर्नल की मानद उपाधि से सम्मानित किया गया है।

अभी कुछ समय पहले भारतीय सेना के कमांडर लेफ्टिनेंट जनरल वाई.सी. जोशी ने रूस की एक एजेंसी के हवाले से दावा किया था कि 15 जून, 2020 को 45 चीनी पीएलए सैनिक मारे गए थे। इस संघर्ष में भारत के 20 सैनिक शहीद हुए थे, जबकि चीन में कभी भी मारे गए सैनिकों की संख्या घोषित नहीं की।

Source From : दैनिक भास्कर हिंदी

Related posts

पाक ने संयुक्त राष्ट्र के सिद्धांतों के तहत काम करने की प्रतिबद्धता जताई

My News Baba

नेपाल में भूस्खलन, 18 की मौत, 21 लापता

My News Baba

वैक्सीन अक्टूबर में उपलब्ध कराने की ट्रंप की बात बिल्कुल गलत : लैंसेट संपादक

My News Baba

Leave a Comment