ब्रेकिंग न्यूज़
बिहार

औरंगाबाद में तेजधार हथियार से दो युवकों की हत्या, रेलवे ट्रैक पर फेंकी लाश

पुलिस ने मामले की जांच शुरू कर दी है. (सांकेतिक चित्र)

पुलिस ने मामले की जांच शुरू कर दी है. (सांकेतिक चित्र)

बिहार (Bihar) के औरंगाबाद जिले में दो युवकों की बेरहमी से हत्या (Murder) कर लाश को रेलवे ट्रैक पर फेंक दिया गया. वारदात के बाद परिजन हत्या का आरोप लगा रहे हैं.

  • Share this:

औरंगाबाद. बिहार (Bihar) के औरंगाबाद जिले में दो युवकों की धारदार हथियार से हमला कर हत्या  (Murder) कर दी गई है. दिल दहला देने वाली यह घटना  रफीगंज थाना क्षेत्र के जाखिम स्टेशन के पास की है. अपराधियों ने दोनों युवकों की हत्या के बाद उनका शव रेलवे ट्रैक पर फेंक दिया था ताकि घटना को हादसे का रूप दिया जा सके. वारदात के बाद अब युवक के परिजन हत्या का आरोप लगा रहे हैं. फिलहाल पुलिस ने कार्रवाई करते हुए दो युवकों के खिलाफ मामला दर्ज कर लिया है.

मिली जानकारी के मुताबिक, ओबरा थाना क्षेत्र के इमामगंज चक निवासी मुन्ना कुमार और विपिन सिंह अपने एक अन्य दोस्त रंजीत के साथ स्कॉर्पियों से रिस्तेदार के घर जाने की बात कह घर से निकले थे. दोनों शिवगंज के पास जमुआ गांव गए भी और वहां आयोजित बर्थडे पार्टी में शामिल होने के बाद अगले दिन दो अन्य दोस्तों के साथ निकले. कुछ दूर जाने के बाद रंजीत को उन्होंने गाड़ी से उतार दिया और आधा घंटा इंतेज़ार करने की बात कह गाड़ी लेकर चले गए लेकिन फिर नहीं लौटे.

ये भी पढ़ें: आजमगढ़: नशे में धुत सिपाही ने महिलाओं को छेड़ा, युवक ने टोका तो मार दी गोली

रेलवे ट्रैक पर फेंकी लाशइस बीच रविवार की रात अपराधियों ने दोनों की हत्या कर दी और शव को रेलवे ट्रैक पर रख दिया ताकि परिजनों तथा पुलिस को यह लगे कि दोनों की हत्या नहीं बल्कि ट्रेन से कटकर मौत हुई है. हालांकि, परिजनों ने दोनों की हत्या किए जाने की बात कही हैं. इधर, एसपी सुधीर कुमार पोरिका ने कहा कि दो युवकों की हत्या होने की सूचना मिली हैं. पुलिस ने दो लोगों के खिलाफ मामला दर्ज कर लिया है और मामले की जांच में जुट गई है.

दो भाइयों की हुई मौत

बिहार के बेगुसराय  में सोमवार को एक बड़ा हादसा हो गया.  कार्तिक पूर्णिमा स्नान के दौरान गंगा  में दो भाइयों की गंगा में डूबने से मौत हो गई. हादसे के बाद पूरे गांव में मातम फैल गया है. ग्रामीण अब प्रशासन की व्यवस्था पर ही सवाल उठा रहे हैं. दरअसल, कार्तिक पूर्णिमा को लेकर बेगूसराय जिले के कई गंगा घाटों पर हर साल बड़ी संख्या में श्रद्धालु स्नान करते हैं. लगातार प्रशासन के द्वारा दावे भी किए जा रहे थे कि सुरक्षा के सारे इंतजाम कर लिए गए हैं. बच्चों के परिजनों का आरोप है कि झमटिया गंगा घाट पर प्रशासन द्वारा बैरिकेटिंग या अन्य कोई व्यवस्था नहीं रहने की वजह से दोनों भाइयों की स्नान के दौरान डूब कर मौत हो गई.

Source From : News18

Related posts

पीएम केयर फंड से बिहार के पटना और मुजफ्फरपुर में DRDO बनाएगा कोरोना अस्पताल

My News Baba

शराबबंदी खत्म करने की मांग पर बोली JDU- हास्य का पात्र बनना चाहती है कांग्रेस

My News Baba

कार सवार लुटेरों ने कैश वैन पर बोला हमला, जान पर खेल ड्राइवर ने बचाए 5 करोड़

My News Baba

Leave a Comment