ब्रेकिंग न्यूज़
दरभंगा बिहार ब्रेकिंग न्यूज़ मधुबनी मैथिली न्यूज़ शिक्षा और कैरियर

फीस वृद्धि के खिलाफ छात्रों में आक्रोश, विश्वविद्यालय प्रशासन एवं विभागाध्यक्ष बने हैं मूकदर्शक

ललित नारायण मिथिला विश्वविद्यालय के दूरस्थ शिक्षा निदेशालय द्वारा B.Ed नियमित मोड के सत्र 2018-2020 के नामांकित छात्रों को 35,000 रुपए अतिरिक्त शुल्क जमा करने के आदेश दिए हैं। इसके खिलाफ छात्रों में व्यापक आक्रोश है। बीएड के विभागाध्यक्ष अरविंद मिलन मूकदर्शक बने हुए हैं।

दूरस्थ शिक्षा निदेशालय के अंतर्गत विश्विद्यालय कैंपस में संचालित नियमित बीएड महाविद्यालय के द्वारा जारी किया गया नोटिस

छात्रों के परेशानी से इन्हें दूर -दूर कोई मतलब नहीं हैं। छात्रों की बातों को दरकिनार करते हुए बीएड कॉलेज एवं विश्विद्यालय प्रशासन इस कोशिश में है कि कैसे अपना जेब भरे और कैसे अपना सैलरी बढ़ाये। बीएड शिक्षा व्यवस्था पूरी तरह चरमरा गयीं है। जहां एक और हमारा पूरा देश तालाबंदी, कोरोना महामारी, और बाढ़ जैसे बड़े आर्थिक समस्याओं से जूझ रहे हैं। वहीं दूसरी ओर विश्वविद्यालय ने आनन-फानन में फीस बढ़ा दी है, इसके खिलाफ सोमवार 13 सितंबर को दूरस्थ शिक्षा निदेशालय के तहत विश्विद्यालय कैंपस में संचालित रेगुलर मोड के छात्रों ने आगे की रणनीति के लिए एक बैठक आहूत की।

विश्विद्यालय प्रशासन के मुख्यद्वार पर आंदोलन करते छात्र

बीएड सत्र 2018-2020 में फीस में 35000 रुपए की बढ़ोतरी के विराेध में साेमवार काे एलएनएमयू में एनएसयूआई के कार्यकर्ताओं ने उग्र प्रदर्शन किया एवं कुलसचिव प्राे. निशीथ कुमार राय का घेराव किया। शाम साढ़े 5 बजे तक कार्यकर्ता उन्हें घेरे हुए थे। जिलाध्यक्ष त्रिभुवन कुमार ने विवि प्रशासन पर आरोप लगाते हुए कहा कि प्रशासन फीस में एक बार में 35000 रुपए की बढ़ोतरी कर कुल 10 करोड़ रुपए से बीएड कॉलेज को लाभ पहुंचाने की कोशिश कर रहा है। बीएड कॉलेज एसोसिएशन के फायदे के लिए सब काम हो रहा है। विवि प्रशासन 17 सितंबर तक अगर परीक्षा फॉर्म की तिथि नहीं बढ़ाता और शुल्क में कटौती नहीं करता है तो बीएड के तमाम छात्र विवि कैंपस में आत्मदाह करेंगे। इसकी जिम्मेदारी विवि प्रशासन व बिहार सरकार की होगी।

छात्रों ने कहा कि बीएड के छात्रों और अभिभावकों के ऊपर इस भीषण संकट में ₹35,000 की जुगाड़ करना किसी आफत से कम नहीं है। इसलिए छात्रों ने पैसों के अभाव में पढ़ाई को छोड़ना ही मुनासिब समझ रहे हैं और उन्होंने परीक्षा प्रपत्र नहीं भरने का निर्णय लिया है।

Related posts

बिहार चुनाव: VIP चीफ मुकेश साहनी ने की बगावत, महागठबंधन छोड़ने का ऐलान

My News Baba

Bihar Election: RJD की दलित सियासत के जवाब में JDU ने उतारी नेताओं की फौज

My News Baba

पढ़ाई में नहीं लगता था मन, फिर वो बना सबसे धनी शख्स

My News Baba

Leave a Comment